Article Writing Format | Hindi Article Kaise Likhte Hai

क्या आपने New Blog बनाया है या आप Blog बनाना चाहते हो तो यह पोस्ट आपको पढनी चाहिये क्योंकि इसमें मैंने लिखा है की एक अच्छा आर्टिकल कैसे लिखा जाता है और Article Writing Format कैसे बनाया जाता है|

कई लोग ब्लॉग बनाकर आर्टिकल लिखना शुरू कर देते है लेकिन उन्हें पता ही नहीं होता की आर्टिकल लिखने का तरीका क्या होता है क्योकि उन्होंने कभी भी इसके बारे पढ़ा ही नहीं होता है|

एक अच्छे आर्टिकल को लिखते समय क्या – क्या बाते ध्यान में रखनी चाहिये यह जरुर पढ़े और अभी तक आपने अपना ब्लॉग शुरू नहीं किया तो यह आर्टिकल “ब्लॉगिंग की कैसे शुरू करें” पढ़कर शुरू कर दीजिये|

Article Kya Hota Hai – आर्टिकल क्या है

आर्टिकल ही वह चीज है जिससे एक Blog Maintain होता है अगर आर्टिकल ही न हो तो हम उस वेबसाइट को ब्लॉग नहीं कह सकते उसे हम वेबसाइट ही कहेंगे लेकिन आर्टिकल के होने से एक वेबसाइट भी ब्लॉग बन जाती है|

अभी आप जो पढ़ रहे हो यह एक आर्टिकल है यह मेरे ब्लॉग “tutorialsfact” पर लिखा गया है इसी प्रकार आप भी अपने ब्लॉग पर आर्टिकल लिखोगे लेकिन आप और कुछ दुसरे टॉपिक पर लिखोगे|

दोस्त किसी भी टॉपिक पर आर्टिकल लिखिये सभी को आर्टिकल ही कहा जाता है मतलब की जो कुछ इनफार्मेशन हम अपनी वेबसाइट में लिखकर बताते है उसे हम आर्टिकल कहते है Okk..

अब बात करते है की आप किसी भी टॉपिक पर लिखिये उसका एक Article Writing Format होना चाहिये तभी आपका आर्टिकल सिस्टेमेटिक दिखेगा|

एक बढ़िया आर्टिकल लिखने के लिये बहुत सारी चीजों पर ध्यान देना होता है तब जाकर कहीं एक अच्छा आर्टिकल बनता है हम भी सब आर्टिकल लिखते है तो उसमे कुछ न कुछ कमी रह जाती है क्योंकि हमें यूजर के लिये लिखना होता है साथ ही गूगल को समझ में आना चाहिये|

एक ब्लॉगर का आर्टिकल पढने वाले 2 लोग है एक यूजर और दूसरा Google दोनों अपने आर्टिकल या पोस्ट से को ख़ुश करना बहुत ही जरुरी होता है|

अच्छा आर्टिकल क्यों लिखना चाहिये

आप सोच रहे होंगे की यह भी कोई सवाल है लेकिन हाँ इसका सीधा सा जवाब है Top में रैंक करने के लिये लेकिन कोई आर्टिकल टॉप में रैंक कैसे होता है?

कोई भी व्यक्ति गूगल में कुछ सर्च करता है तो गूगल उसको वह जानकारी प्रदान करता है|

अब यूजर को सही जानकारी चाहिये और गूगल, यूजर को सही जानकारी देना चाहता है अगर गूगल के पास कोई अच्छा आर्टिकल नहीं है तो गूगल उस यूजर को सही जानकारी नहीं दे पायेगा|

अगर गूगल के पास अच्छी से अच्छी इनफार्मेशन वाला आर्टिकल है तो वह यूजर को सबसे पहले वही आर्टिकल दिखायेगा और उस आर्टिकल को टॉप में या Top 10 में दिखायेगा|

अब आप समझ गये की जिस भी आर्टिकल में अच्छी से अच्छी जानकारी होती है google उसे ही पहले पेज पर दिखाता है यह तो हो गयी गूगल की बात की गूगल को आर्टिकल पसंद आ गया|

अब यदि गूगल ने किसी आर्टिकल को टॉप में रैंक कर दिया और यूजर को वह आर्टिकल पसंद नहीं आया और वह कुछ ही समय में back हो जाता है ऐसा बार बार दुसरे यूजर भी करते है तो गूगल को समझ आ जाता है की मैं तो आर्टिकल को पसंद करता हूँ

लेकिन यदि यूजर को पसंद नहीं आ रहा है तो गूगल उस आर्टिकल को टॉप पेज से निचे भेज देता है और उसकी जगह दूसरा आर्टिकल try करता है|

जब कोई आर्टिकल यूजर को पसंद आने लगता है तो उसे गूगल भी पसंद कर लेता है और उस आर्टिकल को हमेशा टॉप में ही रखता है|

यही कारण है की आपका आर्टिकल google और User दोनों को पसंद आना चाहिये|

वेबसाइट में अच्छा आर्टिकल कैसे लिखे

अगर आप वेबसाइट बना रहे हो तो आपको वेबसाइट में आर्टिकल लिखना पड़ेगा क्योंकि आर्टिकल के बिना तो ब्लॉगिंग हो ही नहीं सकती है|

इसलिये आर्टिकल लिखते आना बहुत ही जरुरी है आर्टिकल कैसे लिखे इसकी जानकारी बहुत ही जरुरी है

अच्छा आर्टिकल लिखने के लिये कुछ चीजों पर ध्यान दे की एक अच्छा आर्टिकल कैसा लिखें|

टाइटल और हैडलाइन लिखें

एक आर्टिकल की पहचान उसकी हैडलाइन से ही पता चल जाती है क्योंकि हैडलाइन ही बताती है की आर्टिकल के अन्दर क्या लिखा है या किसके बारे में लिखा है जैसे मेरे इस आर्टिकल की हैडलाइन में लिखा है की “Website me article kya hota hai | आर्टिकल या पोस्ट क्या होती है”

इस आर्टिकल की हैडलाइन को पढ़कर ही पता चल जाता है की इसमें आर्टिकल के बारे में बताया गया है और साथ ही पोस्ट के विषय में भी जानकारी दी गई है|

इसलिये आपको भी अपने Article में ऐसी हैडलाइन लिखना है की जो भी उसे पढ़े एक बार जरुर ओपन करे और उसे पढने पर ही समझ में जाये की मुझे किस बिषय पर जानकारी मिलने वाली है|

सही जानकारी लिखना

दोस्तों यहाँ कंटेंट से मतलब है की आप जिस भी टोपिक पर लिखना चाहते हो अपने पुरे आर्टिकल में उसी टॉपिक के बारे में जानकारी दे ऐसा नहीं करना है की आप लिखते लिखते दूसरी चीजों के बारे में भी बताने लग जाये|

आपने जैसी हैडलाइन लिखी है उसी के सम्बंधित लिखें जिससे पढने वाला कभी बोर नहीं होगा क्योकि उसे जो इनफार्मेशन चाहिये वह उससे सम्बंधित पूरी जानकारी लेना चाहेगा|

इसलिये जितना हो सके detail में समझाने की कौशिश करे क्योंकि जितने अच्छे से आप कंटेंट लिखोगे उतने ही अच्छे से पढने वाले कोई समझ में आएगा और वह आपके कंटेंट को पसंद भी करेगा|

इसलिये कहा जाता है की “Content Is King” कंटेंट ही सब कुछ है अगर यही सही नहीं रहेगा इससे किसी को फायदा नहीं होगा तो कोई भी इसे नहीं पड़ेगा और अगर अच्छा नहीं लगा तो थोडा सा पढ़कर छोड़ देगा इसलिये सही इनफार्मेशन देने पर फोकस करें|

विसुअल तरीका अपनाये

अपने आर्टिकल में अच्छे अच्छे visual चीजे उपयोग करे जैसे इमेज और विडियो एंड ग्राफ़िक्स क्योंकि एक इमेज हजारों शब्दों के बराबर होती है और एक विडियो हजारों इमेज के बराबर होती है|

अगर आप अपने आर्टिकल के हिसाब से अच्छे अच्छे इमेज उपयोग करोगे तो इससे पढने वाले को अच्छा लगेगा और वह आपके आर्टिकल से बोर नहीं होगा क्योंकि लगातार पढने से भी व्यक्ति बोर होने लगता है

इसलिये आर्टिकल के बीच – बीच में इमेज या विडियो का प्रयोग जरुर करे|

शब्दों को रिपीट न करें

किसी भी अच्छे आर्टिकल में सबसे ज्यादा यह खासियत होती है की उसमे कोई भी word बार बार प्रयोग नहीं किया जाता है बार बार किसी word को प्रयोग करने से पढने वाले को चिडचिडापन महसूस होने लगता है|

इसलिए और गूगल भी कहता ही की ब्लॉग लिखने पर किसी भी कीवर्ड को बार बार रिपीट नहीं करना चाहिये इस Keyword Stuffing कहते है जो हमें नहीं करना है|

पोस्ट में जिस भी word की जहाँ जरूरत हो वही लिखे अन्यथा बेवजह नहीं लिखना चाहिये आर्टिकल की लम्बाई बढ़ाने के लिये|

जैसे स्कूल में किसी प्रश्न के उत्तर को बढ़ा करने के चक्कर में हम बार बार एक ही बात को घुमा फिरा कर लिखते थे और जब टीचर उस उत्तर को पढ़ते तो फिर भी कम ही नंबर देते थे ऐसे ही गूगल भी हमारे ब्लॉग के आर्टिकल को चेक करता है उसके बाद हमें किस पोजीशन पर दिखाना है वही तय करता है|

शांति से लिखे

Article Writing के समय आपका मन शांत होने चाहिये जिससे आपके दिमाग में सही सही विचार आयेंगे और जब अच्छे अच्छे विचार आयेंगे तो आप देखेंगे की आपका आर्टिकल बहुत ही अच्छा लिखा होगा|

हमेशा अकेलें में बैठ कर लिखे उस समय बात न करें किसी से नहीं तो आपका ध्यान भटकेगा और आप उतना अच्नछा हीं लिखोगे|

सोचो और लिखो

थोडा थोडा लिखो और सोच सोच कर लिखिये ऐसा नहीं को जो मन में आ गया लिखते गए थोडा शब्दों पर गौर करिये उसके बाद ही लिखये|

आपके गलत लिखने से किसी को गलत जानकारी मिल सकती है इसलिए सोचकर लिखिये|

रिसर्च कीजिये

आर्टिकल लिखने से पहले उस पर रिसर्च कर लीजिये और दुसरे लोग कैसा लिखते है भी देखिये और उसी के अनुसार अपना आर्टिकल बनाइये जितना हो सके Internet से उस विषय के बारे में जानकारी इक्कठा कर लीजिये|

रिसर्च करने से आपको विषय की जानकारी अच्छे से हो जायेगी और आप अच्छी से अच्छी जानकारी दे पाओगे अपने आर्टिकल में|

अनुभव शेयर करे

आपको जिस भी विषय पर लिख रहे हो उस पर अपना अनुभव शेयर करे जिससे पढने वाले को पता चलता है की इसमें ओरिजिनल जानकारी दी गयी है|

क्योंकि अनुभव हमेशा आसान भाषा में होता है और वह यूजर को समझ में आ जाता है |

जीरो से लिखे

जब आप कोई भी आर्टिकल लिखते हो तो Article Writing के टाइम पर आप यह नहीं जानते की आपके आर्टिकल को पढने वाला व्यक्ति कौन होगा वह छोटा बच्चा भी हो सकता है और बड़ा व्यक्ति भी हो सकता है|

स्टूडेंट भी हो सकता है और टीचर भी हो सकता है इसलिए अपना आर्टिकल ऐसा लिखे की हर उम्र के लोग उसे पढ़ सके और समझ सके क्योंकि आपने क्या लिखा किसी को समझ में नहीं आएगा तो कोई भी नहीं पढ़ेगा|

छोटे – छोटे पैराग्राफ में लिखें

आर्टिकल को हमेशा छोटे – छोटे हिस्सों में लिखना चाहिये जिसे हम पैराग्राफ कहते है इससे उस आर्टिकल को पढने में बहुत आसानी होती है|

short Paragraph Article सभी पसंद करते है क्योंकि इसमें चिढ़ चिढ़ा पन नहीं आता है पढ़ते समय |

लिखने के बाद पढ़े

लिखने के बाद पढने से आप आर्टिकल में से गलतियों को ढूंड कर सुधार सकते है कभी कभी तेज लिखने पर कुछ Grammar mistake हो जाती है जिसे ठीक कर लेना चाहिये|

पढने के बाद आपको भी समझ में आ जाता है की आपने किस प्रकार से अपना आर्टिकल लिखा है लिखने के बाद पढने को हम ब्लॉगिंग की भाषा में Proof Reading कहते है|

एक Format में लिखे

किसी भी आर्टिकल को लिखो तो उसे एक फॉर्मेट में लिखिये जिससे पढने वाले व्यक्ति को आपके आर्टिकल में स्टेप्स दिखे और समझ में आता जाए की आगे क्या लिखा होगा|

इसलिये एक Article Writing Format बनाये और उसी को फॉलो करके लिखिये आपको लिखने में भी आसानी रहेगी और आर्टिकल भी detail में दिखाई देगा|

Article Writing Format क्या होता है कैसे बनाये?

article writing फॉर्मेट में पुरे आर्टिकल का स्ट्रक्चर होता है यह फॉर्मेट बताता है इसमें आर्टिकल एक प्रोसेस की तरह आगे बढ़ता है और ख़त्म होता है|

वैसे तो Format of Article Writing के 3 पार्ट होते है जिसमे आर्टिकल को लिखा जाता है लेकिन मैं कुछ sub-part भी जोड़ता हूँ|

जो की इन तीनो फॉर्मेट में ही आते है|

  • Intro of Article
  • Main content in Article
  • Conclusion of Article
  • Summary of Article

Starting Part of Article

सबसे पहले आर्टिकल में जिस भी टॉपिक लिखना है उसके बारे में बताये और रीडर का इंटरेस्ट बनाने की कौशिश करे|

ताकि वह शुरू की 4 – 5 लाइन पढ़कर उसे और ज्यादा पढने की इच्छा हो अगर आपके आर्टिकल में intro सही से नहीं लिखा जाएगा तो reader शुरू में ही आपके ब्लॉग से back कर जायेगा इसलिये अच्छा से अच्छा intro बनाने की कौशिश करे|

intro में कभी भी अपना नाम नमस्कार वगैरह में लाइन ना बढ़ाये सीधे टॉपिक की बात कीजिये जिससे पढने वाला बोर न हो और इंटरेस्होटेड जाए पढने के लिये|

Main Content in Article

intro लिखने के बाद अपने main content पर आये जब आब Article Writing करते हो तो आपके मन में तरह तरह के सेंटेस बनेंगे|

main content में वही लिखे जिसके जरूरत है बेकार की लाइन बढ़ाने के लिये कुछ भी ऐसा वैसा न लिखे जो आपके टॉपिक से बाहर हो|

Main Content इतना अच्छा होना चाहिये की पढने वाला दूसरा आर्टिकल भी पढने लगे अपने main कंटेंट में हमेशा दूसरा आर्टिकल को लिंक करे जिससे reader को सभी प्रकार की जानकारी मिल सके हो सके तो किसी दुसरे ब्लॉग का लिंक भी दे सकते हो|

Ending of Article

इसमें आपको अपने पुरे आर्टिकल का सार लिखना चाहिये की आपके आर्टिकल का main मतलब क्या है पूरा आर्टिकल किस विषय के बारे में है और उससे क्या रिजल्ट मिलता है|

Conclusion वही बताता है की पूरा आर्टिकल में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण चीज क्या है और किस चीज पर सबसे अधिक फोकस करना चाहिये इससे आर्टिकल का उद्देश्य पूरा होता है|

Short Form of Article

ज्यादातर Conclusion और summary में अन्तर नहीं होता लेकिन दोनों का उद्देश्य अलग होता है|

Conclusion में हम Article का सार बताते है और किसी एक बात पर फोकस करते है लेकिन Summary अलग होती है इसमें एक से ज्यादा point होते है|

Summary में आर्टिकल के मैंन points को नोट करके लिखा जाता है 5000 word के आर्टिकल को summary के माध्यम से 50 से 100 शब्दों में समझाया सा सकता है| अब हम भी अपने आर्टिकल की endiing कर रहे है|

Conslusion

दोस्तों इस पोस्ट में आपने सिखा की एक अच्छा आर्टिकल कैसे लिखते है और अच्छा आर्टिकल लिखने के Article Writing Format कैसा होना चाहिये जिससे Article Writing की प्रोसेस समझ में आ जाती है|

एक अच्छा आर्टिकल वही होता होता है जो पढने वाले के काम आये पढने वाला उसे पसंद करें वर्ना आप कितना भी अच्छा लिख लीजिये अगर पढने वालो को अच्छा नहीं लगा तो आपके आर्टिकल में कुछ न कुछ कमी है|

कभी भी बिना रिसर्च के नहीं लिखना चाहिये रिसर्च करके अच्छी तरह से लिखा गया हमेशा गूगल में टॉप में रैंक करने लग जाता है इसलिये Google के हिसाब से SEO Friendly Article लिखना चाहिये|

Article Writing से सम्बंधित मेरी यह पोस्ट कैसी लगी कमेंट में जरुरु बताये एवं ब्लॉगिंग सीखने के लिये इस ब्लॉग से जुड़े रहे|

धन्यवाद्

ये भी पढ़े

Leave a Comment