मार्केटिंग क्या है? Digital Marketing kya hai | 8 Best Marketing Tips

Hii….मार्केटिंग के बारे में तो सभी ने सुना होगा और भी जानते होंगे की मार्केटिंग क्या है? मार्केटिंग किसे कहते है? यह कितने प्रकार की होती है अगर नहीं जानते तो जान लो इस आर्टिकल में आप मार्केटिंग से सम्बंधित Marketing Tips and Tricks के बारे में जानेंगे साथ में आप यह भी जानने वाले हो की मार्केटिंग कितने प्रकार की होती है और Digital Marketing Kya hai ? इससे सम्बंधित सभी जानकारी तो चलिये पढना शुरू करे मार्केटिंग क्या होती है?

Marketing क्या होती है In Hindi

तो दोस्तों मार्केटिंग का सीधा सा मतलब है की वह ट्रिक या तरीका जिसके उपयोग से अपने प्रोडक्ट की sales को कई गुना बड़ा देना अब चाहे वह digital marketing हो या कोई अन्य Traditional marketing तरीका लेकिन सभी का main उद्देश्य यही होता है|

मार्केटिंग क्या है की अपने प्रोडक्ट को इसके जरिये ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुचाये जिससे की जब ज्यादा लोग आपके प्रोडक्ट को देखेंगे उसके बारे में जानेंगे आपकी सेल्स में इजाफ़ा उतना ही अधिक होगा|

Marketing Definition By Philip Kotler

दोस्तों Philip Kotler को मार्केटिंग के बहुत बड़े प्रणेता माना जाता है उन्होंने marketing से सम्बंधित एक बुक भी पब्लिश की है जिसका नाम है Marketing Management By Philip Kotler.

Marketing-Definition-by-Philip-Kotler-Digital-Marketing-Kya-Hai

“Marketing is about satisfying consumer needs and wants through exchange.”Philip Kotler

“Marketing is not the art of finding clever ways to dispose of what you make.

It is the art of creating genuine customer value.”Philip Kotler

“मार्केटिंग करने का उद्देश्य यह नहीं की आप सिर्फ अपने कस्टमर को अपना प्रोडक्ट बेच रहे हो इसका मुख्य काम यह भी है की अपने कस्टमर की जरुरत को समझना उसकी प्रॉब्लम को समझना और उसके अनुसार उसको प्रोडक्ट देना यही मार्केटिंग की असली परिभाषा है|”

मार्केटिंग में 3 बाते बहुत ही महत्वपूर्ण होती है Awareness,Attraction,Satisfaction.

Customer आपके प्रोडक्ट को लेकर aware होना चाहिये|

आपके प्रोडक्ट से attract होना चाहिये |

प्रोडक्ट से satisfaction (संतुष्ट ) होना चाहिये|

मार्केटिंग करने के लिये आपको कुछ rules फॉलो करने होंगे जिनके द्वारा आप अपनी मार्केटिंग के कार्य को आसान कर सकते हो ये Marketing के Rules क्या है? हम आपको आगे बता रहे है लेकिन इससे पहले यह जानना जरुरी है की मार्केटिंग किसके द्वारा की जाती है?

Business में Kiss फार्मूला क्या है?

मार्केटिंग कौन करता है?

क्या सभी को मार्केटिंग करना जरुरी है? क्या इसे सब कर सकते है तो इसका उत्तर है हाँ मार्केटिंग सभी कर सकते है इसके लिये कोई अलग से कुछ भी special करने की जरुरत नहीं होती है? जो लोग मार्केटिंग करते है उनको Marketer कहा जाता है?

सबसे ज्यादा मार्केटिंग बड़ी-बड़ी कंपनिया करती है छोटे Businessmen बहुत कम मार्केटिंग करते है क्योंकि मार्केटिंग करने के लिये खर्च लगता है जो हर कोई अफोर्ड नहीं कर पाता है? लेकिन अब मार्केटिंग के ऐसे तरीके भी आ गए है जिनमे बहुत कम खर्च लगता है और ज्यादा अच्छे result प्राप्त होते है|

मारकेटिंग क्यों आवश्यक है?

दोस्तों आपने जान तो लिया की मार्केटिंग क्या है ? लेकिन यह मार्केटिंग क्यों की जाती है क्या बिना मार्केटिंग के बिज़नस को बड़ा नहीं कर सकते है?

ऐसा बिलकुल भी नहीं है की बिना मार्केटिंग के बिज़नस को बड़ा नहीं किया जा सकता लेकिन यह बिज़नस के लिये उतना ही आवश्यक है जितना की बिज़नस में Profit आवश्यक होता है|

जैसे:- अगर किसी ने कोई प्रोडक्ट बनाया है और उस प्रोडक्ट Price भी कम है और Quality ज्यादा अच्छी है तो अब ऐसे प्रोडक्ट को खरीदना कौन नहीं चाहता है जिसकी Price कम और Quality ज्यादा अच्छी हो|

लेकिन अब बात आती है की जब तक इस प्रोडक्ट के बारे में किसी को पता ही नहीं चलेगा इसको कौन खरीदेगा स्वभाविक है की बहुत ही कम लोग खरीदेंगे|

इसलिये इस प्रोडक्ट को ज्यादा लोगो तक पहुचाने के लिये ताकि इसे ज्यादा से ज्यादा लोग ख़रीदे इस Product की Marketing करनी पड़ेगी|

अब मार्केटिंग कैसे करना है यह तो इसके तरीके पर निर्भर करता है की आप मार्केटिंग किस तरीके से करते हो क्योंकि मार्केटिंग कई तरह की होती है|

Types of Marketing in Hindi – मार्केटिंग के प्रकार

दोस्तों वैसे तो मार्केटिंग का मुख्य उद्देश्य प्रोडक्ट को लोगो तक पहुँचाना है लेकिन यह काम अलग – अलग तरीके से किया जाता है मार्केटिंग कई प्रकार की होती है जिनमे से कुछ मुख्य मार्केटिंग के types आपको बताये जा रहे है|

  • Traditional Marketing
  • Digital marketing
  • Word of Mouth

Traditional Marketing In Hindi

तो dear friend, Traditional Marketing Method के बारे में बात करते है यह पुराना तरीका है मार्केटिंग का अभी भी यह तरीका चल रहा है लेकिन यह अब बहुत ही कम उपयोग किया जाता है| क्योंकि की Traditional Marketing में खर्च ज्यादा आता है और Positive Results in Sales कम ही देखने को मिलता है|

ट्रेडिशनल मार्केटिंग में TV (Television),Newspaper, Templates & Cards, Banners आदि का उपयोग किया जाता है जिसमे की बहुत ही कम Audience देखने को मिलती है|

इसलिये इसका उपयोग बहुत कम हो गया है|

Digital Marketing Kya hai

दोस्तों Digital Marketing, Product Marketing का दूसरा व सबसे शानदार तरीका है इसमें किसी भी प्रोडक्ट को Digitally Promote किया जाता है आजकल नये Marketer इस तरीके का उपयोग कर रहे है|

क्योंकि यह Digitally काम करता है इसलिये इसमें technology का अच्छा उपयोग होता है और टेक्नोलॉजी के द्वारा मार्केटिंग की process बहतु है तेज हो जाती है|

Digital marketing Business की दुनिया में एक क्रन्तिकारी तरीका है अपने धंधे को बड़ा करने के लिये|

इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है की इसमें आप अपने प्रोडक्ट के हिसाब से ऑडियंस का चयन करते हो की आपका प्रोडक्ट किसको दिखना चाहिये और किसे नहीं दिखना चाहिये|

जैसे:- अगर आप college की advertising कर रहे है तो आपको इसे students को दिखाना पड़ेगा न की किसी वृद्ध को क्योंकि College स्टूडेंट जाते है वृद्ध नहीं इसलिये ads भी उनको ही दिखाये तो यह सबसे बड़ा फायदा होता है digital marketing का|

डिजिटल मार्केटिंग कई प्रकार से की जाती है लेकिन यह पर कुछ Important Parts Of Digital Marketing बताये गये है ये अधिकतर use किये जाने वाले तरीके है|

  • Online Marketing
  • Social Media Marketing
  • Internet Marketing
  • Content Marketing
  • Electronic Marketing Or E-Marketing
  • Niche Marketing

दोस्तों ये तो कुछ ही तरीके है डिजिटल मार्केटिंग के लेकिन इससे भी ज्यादा तरीके है डिजिटली प्रोडक्ट को प्रमोट करने के चलिये इनके बारे में विस्तार से समझते है|

Online Marketing In Hindi

तो भाई ऑनलाइन मार्केटिंग तो आप जान ही गए होकी यह ऑनलाइन से रिलेटेड है और ऑनलाइन होती है लेकिन यह मार्केटिंग कैसे होती है क्या यह पता है आपको नहीं ना|

तो ऑनलाइन मार्केटिंग Google के द्वारा की जाती है जैसे किसी कंपनी को अपना प्रोडक्ट sale करना है तो वः उसका advertesment करेगी लेकिन कंपनी खुद advertisement (विज्ञापन) नहीं करती है|

वह कंपनी गूगल के पास जाती है और गूगल के google adword program के द्वारा अपना विज्ञापन करवाती है|

अब google adwords क्या है कैसे काम करता है यह तो हम आने दुसरे आर्टिकल में जानेगे बस आप इतना जान लो की यह कीसी भी कंपनी या प्रोडक्ट के विज्ञापन के लिये काम करता है|

क्यूंकि यह काम ऑनलाइन होता है इसलिये इसे ऑनलाइन मार्केटिंग कहा जाता है|अब बात करते है सोशल मीडिया मार्केटिंग की|

Social Media Marketing Kya Hai

आज की डेट में Social Media Marketing सबसे बेस्ट और सस्ता तरीका है मार्केटिंग का और मजे की बात यह है की इस सोशल Media Marketing में लागत कम और परिणाम अच्छे देखने को मिलते है|

इस मार्केटिंग में सबसे ज्यादा छोटे Businessmen काम करते है और यह अपने प्रोडक्ट को फेमस करने का शानदार तरीका है|

सोशल मीडिया मार्केटिंग में सबसे ज्यादा YouTube और Instagram का उपयोग हो रहा है आज की डेट में फेसबुक भी सोशल मीडिया ही है लेकिन इस पर थोडी कम मार्केटिंग होती है|YouTube और Instagram पर पर्सनल ब्रांडिंग बहुत ही जल्दी होती है|

यही कारण है की आज के समय में छोटे Businessmen इस पर अपना कंटेंट अपलोड करके अपनी ही ब्रांडिंग करते है और साथ-साथ अपने प्रोडक्ट की भी मार्केटिंग करते जाते है| इसी को Social Media Marketing कहा जाता है तो अगर आप भी अपने प्रोडक्ट और खुद को फेमस करना चाहते है तो सोशल मीडिया बेस्ट तरीका है|

Internet Marketing Kya Hai

Digital marketing जो कुछ भी हो रहा है ये सब इन्टरनेट के माध्यम से ही तो हो रहा है इन्टरनेट मार्केटिंग में सभी तरह की मार्केटिंग होती है ऑफलाइन मार्केटिंग को छोड़कर|

सोशल मीडिया मार्केटिंग या ऑनलाइन मार्केटिंग ये सब इन्टरनेट मार्केटिंग के अन्दर ही आती है इसमें मार्केटर सबसे ज्यादा प्रॉफिट कमाता है क्योंकि आजकल इन्टरनेट का उपयोग लगातार बढता ही जा रहा है इसलिये यह मार्केटिंग तो चलने ही वाली है|

इन्टरनेट मार्केटिंग में भी Advertisement के माध्यम से इन्टरनेट स्पोंसर Method के द्वारा मार्केटिंग की जाती है| जैसे कोई बंदा या वेबसाइट बहुत फेमस है तो उसको अपने प्रोडक्ट की Sponsership दे कर उससे अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग करवाई जा सकती है|

Content Marketing Kya Hai

Content marketing भी एक अच्छा तरीका है प्रोडक्ट sale करने के लिये लेकिन यह उतना ज्यादा effective नहीं है जितना की दूसरी मार्केटिंग में होता है किन्तु कंटेंट मार्केटिंग अगर Video Content के माध्यम से की जाती है तो उसका रिजल्ट अच्छा होता है|

कंटेंट मार्केटिंग में सबसे पहली चीज की डिमांड यही रहती है की आपका कंटेंट अच्छा होना चाहिये और लोगो को पसंद आना चाहिये जिससे इन्फ्लुएंस हो कर वो आपके प्रोडक्ट या सर्विस को Buy करे|

ऐसा नहीं की आप कुछ भी कंटेंट बनाये जा रहे हो और लोगो को पसंद ही न आ रहा हो तो आपको इसमें कोई फायदा नहीं होने वाला है|

हमें भी इस ब्लॉग पर पहले ऐसे ही कंटेंट को पब्लिश कर दिया था लेकिन जब इसका रिजल्ट हमें नहीं मिला तो फिर हमने सभी आर्टिकल्स को अपडेट किया और यूजर की जरुरत के हिसाब से इस पर पोस्ट पब्लिश करना शुरू किया इसका हमें अब फायदा दिख रहा है की लोग हमारे कंटेंट को पढने लग गए जैसे की अभी आप पढ़ रहे हो|

कंटेंट मार्केटिंग में आपको लोगो को कुछ Value Provide करनी होगी तभी वो आपसे जुड़ेंगे|

E-Marketing या Electronic Marketing In Hindi

Electronic मार्केटिंग भी डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत ही आती है लेकिन इसको एक अलग केटेगरी में devide किया गया है

यह मार्केटिंग मुख्यत: E-Mail Marketing या अन्य Wireless Marketing, वायरलेस टेक्नोलॉजी के माध्यम से की जाती है|

जैसे:- आपने कभी भी अपने मेल आई डी में मेल प्राप्त की जिसमे कोई ऑफर या किसी कॉलेज की जानकारी या फिर किसी कोर्स की अपडेट दी गयी हो तो ये सभी ईमेल मार्केटिंग के उदाहरण है|

आपने अपने मोबाइल में Massage के माध्यम से भी कई तरह के ऑफर देखे होंगे जिसको आप कंपनी के massage कह कर ध्यान नहीं देते हो या उसे डिलीट कर देते हो ये मोबाइल न. से मार्केटिंग होती है इसको ही इलेक्ट्रॉनिक मार्केटिंग कहा जाता है|

Niche Marketing

दोस्तों Niche Marketing में एक Specific (विशिष्ट) प्रोडक्ट की मार्केटिंग जाती है इसमें सिर्फ एक ही केटेगरी के प्रोडक्ट को sales किया जाता है Niche मार्केटिंग में targeted ऑडियंस ही होती है इसलिये यह मार्केटिंग बहुत ही कारगर साबित होती है|

जैसे कोई कंपनी है जो सिर्फ होस्टिंग ही बेच रही है तो कोई सिर्फ Domain Name इस टाइप की मार्केटिग में अपने customer को समझना होता है की आपके real कस्टमर कौन है और उनको ध्यान में रखकर ही यह मार्केटिंग की जाती है|

Word Of Mouth

दोस्तों word of mouth यह कोई मार्केटिंग का टाइप नहीं है लेकिन इसे भी मार्कटिंग ही कहते है यह मार्केटिंग का तरीका खुद मार्केटर उपयोग नहीं करता है यह मार्कटिंग Local Public (लोगो) द्वारा की जाती है|

यह मार्केटिंग किसी खास फेमस जगह या किसी खास व्यक्ति के बारे में की जाती है|

अगर कोई चीज याव्यक्ति बहुत फेमस है या कोई स्थान बहुत अच्छा है तो अगर एक व्यक्ति उस स्थान या व्यक्ति या उस चीज के बारे में जान जाता है तो वह दुसरे लोगो को भी उसके बारे में बताएगा की यह चीज कितनी अच्छी है|

जैसे हमने Doctor Vivek Bindra की अच्छी मार्केटिंग की है लोगो को बता कर की वे एक बहुत ही अच्छे Business Trainer और Motivational Speaker है|

इसमें उनका कोई खर्चा नहीं लगा बस उन्होंने मेहनत की और अपने आप को एक ब्रांड बनाया उसके बाद तो उनका प्रचार फ्री में ही हो गया इसे ही Word Of Mouth Marketing कहा जाता है जो एक व्यक्ति से दुसरे व्यक्ति के बीच होती है|

मार्केटिंग की दुनिया में यह सबसे शानदार मार्केटिंग है इसके सामने सभी मार्केटिंग के तरीके fail है|क्योंकि इसको लोग स्वयं ही करते है|

तो यह हो गए मार्केटिंग के सभी प्रकार मार्केटिंग और भी बहुत सारे टाइप की होती है जैसे Green Marketing, Rural Marketing लेकिन हमने आपको सिर्फ महवपूर्ण टाइप ही बताये है|

मार्केटिंग के स्तम्भ- Pillars Of Marketing

Dear Friends अभी तक आपने जान लिया की मार्केटिंग क्या है और कितने प्रकार की होती है और मार्केटिंग क्यों करते है लेकिन अब आपको जानना है की मार्केटिंग में सबसे महत्वपूर्ण क्या है जो इसे successful बनाता है|

चाहे कोई भी मार्केटिंग हो अगर ये 4 स्तंभ में खरी नहीं उतरती तो वह किसी भी प्रकार से फायदा नहीं करने वाली तो ये Marketing के Pillars कौन-कौन से है? इस Model को PPPP Model या 4P Marketing Model भी कहते है|

  • Product
  • Price
  • Place
  • Promotion

Product

Product से हमारा मतलब है की आप किस टाइप का प्रोडक्ट बना रहे हो क्या वह डिजिटल है या फिजिकल या दोनों है? उसको बनाने में कितनी Cost आ रही रही है? इसकी packaging कैसी होनी चाहिये? फिजिकल प्रोडक्ट है तो उसकी inventory रखने की व्यवस्था भी करनी पड़ेगी इसका भी खर्च आपका ही है| अपने प्रोडक्ट के बारे में ये सब जानकारीयां होना जरुरी है|

इसकी बिना आगे decision लेना मुश्किल होता है| इसलिये पहले अपने प्रोडक्ट की अच्छी स्टडी कर लेवे|

Price

एक बार आपने प्रोडक्ट decide कर लिया अब बात आती है की उसको बेचना कितने में है ऐसा न हो की आपके प्रोडक्ट को बनाने की Cost (खर्च), मेहनत और मार्केटिंग का खर्च मिलाकर उसकी price से ज्यादा हो जाये तो यहाँ पर आपको नुकसान झेलना पड़ेगा|

इसलिये अपने प्रोडक्ट की सही कीमत रखे अगर ज्यादा रखेंगे तो उसको कोई नहीं खरीदेगा और अगर ज्यादा कम रखोगे तो नुकसान हो सकता है| इसलिये कीमत को सोच समझ कर Decide करना चाहिये ताकि आपके Customers को भी की अच्छी value मिले और आपको भी प्रॉफिट मिले|

Place

प्रोडक्ट को decide कर लिया उसकी कीमत को भी फिक्स कर लिया अब Place से हमारा मतलब यह है की आपको अपने प्रोडक्ट को कहाँ बेचना है अगर आपका प्रोडक्ट डिजिटल है तब तो आप उसको ऑनलाइन आसानी से बेच सकते है लेकिन अगर प्रोडक्ट फिजिकल है तो आपको थोडा सोचना पड़ेगा|

ऑनलाइन आप खुद भी बेच सकते हो या बड़ी बड़ी इ-कॉमर्स कंपनियों से भी Tie-up कर सकते हो जैसे Amazon और फ्लिफकार्ट आदि|

अगर आप ऑफलाइन प्रोडक्ट को सेल करना चाहते हो तो इसमें थोड़ी ज्यादा मेहनत और खर्च लग सकता है अगर आपको ज्यादा बड़ा नेटवर्क बनाना है तो आप डिस्ट्रीब्यूटर के माध्यम से अपने प्रोडक्ट को sale कर सकते हो या फिर स्वयं ही रिटेलर्स (दुकानदार) से संपर्क करके अपना माल दे सकते हो|

Promotion

अपने product, Price और place को decide करने के बाद आपको सीधे ही इसका promotion नहीं करना चाहिये प्रोडक्ट का प्रमोशन करने से पहले इन तीनो का अच्छे से विश्लेषण कर लेना चाहिये|

जब आपके प्रोडक्ट की सेल आने लग जाती है उसके बाद अपने Customer से प्रोडक्ट के बारे में फीडबैक और रिव्यु जरुर ले अगर फीडबैक Positive आते है और कस्टमर को आपका प्रोडक्ट पसंद आता है तो तुरंत इसके प्रमोशन की योजना बना लेनी चाहिये|

Promotion से मतलब यह नहीं है की आप प्रमोशन कर रहे है और आपको प्रॉफिट ही नहीं मिल रहा है प्रमोशन तभी करे जब आपको इससे प्रॉफिट मिले|

ऐसा न हो की प्रमोशन के कारण आपका प्रॉफिट में बहुत ज्यादा कमी आ जाये तो इसका भी ध्यान रखे आपके प्रोडक्ट की Cost और प्रमोशन की Cost मिलाकर इसकी कीमत की 50% से अधिक नहीं होना चाहिये|

कुछ प्रोडक्ट में कम प्रॉफिट ही मिलता है लेकिन कौशिश यही करो की खर्च कम से कम हो और फायदा ज्यादा से ज्यादा इसलिये प्रमोशन के आसान और अच्छे तरीके प्रयोग करे|

Marketing के 8 powerful शब्द

  • You कस्टमर को Importance देना
  • Quality- कस्टमर के दिमाग में प्रोडक्ट की वैल्यू बढ़ाना
  • Free- ज्यादा से ज्यादा कस्टमर को attract करना
  • Risk-Free- ग्राहक को product के बारे में secure feel करवाना
  • Secret- कस्टमर के दिमाग में प्रोडक्ट के बारे में एक रहस्यमय भावना पैदा करना
  • Instant- ग्राहक को urgency बनाना
  • Don’t Miss- ग्राहक को एक्शन लेने पर मजबूर करना
  • Easy- कस्टमर को चीजे आसान करके दिखाना
Digital-Marketing-Kya-Hai-Best-Marketing-Tips-Pillars-of-Marketing

Conclusion Of Marketing

तो dear friend इस आर्टिकल में आपने जाना की मार्केटिंग क्या होती है डिजिटल मार्केटिंग क्या है इसके क्या फायदे है मार्केटिंग के स्तम्भ और कुछ ध्यान रखने वाली महत्वपूर्ण बाते|

हम समझते है की हमने इस आर्टिकल में मार्केटिंग से सम्बंधित सही और सभी जानकारी दी है अगर आपको लगता है की हमने कोई जानकारी इस आर्टिकल में नहीं दी है तो आप कृपया कमेंट कर के जरुँर बताये|

“सीखो और सिखाओ देश को आगे बढाओ”

धन्यवाद्

3 thoughts on “मार्केटिंग क्या है? Digital Marketing kya hai | 8 Best Marketing Tips”

Leave a Comment