SEO क्या है कैसे करें पूरी जानकारी | Learn SEO In hindi 2021

आज के इस डिजिटल युग में इन्टरनेट से बिज़नस करना सबसे ज्यादा ट्रेंड में है जिसे देखो वह Online business करके पैसा कमाना चाहता है लेकिन internet पर बढती इस प्रतिस्पर्धा के बीच ऑनलाइन बिज़नस करना भी इतना आसान नहीं है जितना हम सोचते है|

हमारा यह आर्टिकल SEO Kya Hai कैसे कैसे करे? इसी के बारे में लिखा गया है की आपको इन्टरनेट से पैसा कमाना है तो आपको SEO सिखाना पड़ेगा|

कई लोग सोचते है की इन्टरनेट पर अपनी वेबसाइट बनाओ और पैसा कमाने लग जाओ लेकिन यह इतना भी आसान नहीं है Digital Marketing की दुनिया में बढ़ते इस Competition के बीच अपनी जगह बनाना बहुत ही ज्यादा Importent है वर्ना सारी मेहनत बेकार चली जाती है|

अगर आप डिजिटल मार्केटिंग में नए हो हो तो आपको SEO Kya Hai इसके विषय में जानकारी होनी चाहिये क्योंकि SEO के द्वारा ही आप एक Successful Blogger या Digital marketer बन सकते हो|

अगर आप एक ब्लॉगर हो तो आपको SEO के बारे में बहुत कुछ सीखना पड़ेगा इसी के द्वारा ही आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर Traffic Boost होता है बहुत सारे नए ब्लॉगर अपने ब्लॉग से पैसा कमाना चाहते है लेकिन उनके ब्लॉग पर ट्रैफिक नहीं आता जिससे वो ब्लॉगिंग को छोड़ देते है|

ब्लॉगिंग में सक्सेस होने का मतलब है की आप अपने ब्लॉग से इतना पैसा कमा सके जितना आप अपनी जॉब या दुसरे काम से कमा लेते है पैसा कमाने के लिये आपको अपने ब्लॉग पर अच्छा खासा ट्रैफिक लाना पढता है|

यह निर्भर करता है आपकी Blogging Niche के ऊपर जितनी अच्छी आपकी Niche होगी आपकी सफलता के चांस उतने ही ज्यादा बढ़ जायेंगे|

तो चलिए जानते है की SEO क्या है? पूरी जानकारी!

What Is SEO in Hindi – SEO क्या है?

यह एक ट्रिक या एक स्ट्रेटेजी है जिसके द्वारा आप अपनी वेबसाइट को ऑप्टिमाइज़ करते हो जिससे की वो गूगल की नजर में दिखे और आपके ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक आये |

SEO इसलिए करते है क्योंकि इससे वेबसाइट पर आर्गेनिक ट्रैफिक लाया जा सके|

SEO का Full-Form – Search Engine Optimization होता है इसका मतलब है की अपने वेबसाइट को Search Engine जैसे:- (Google, Bing आदि) के लिये Optimize करना|

SEO के द्वारा ही हम गूगल को बताते है की हमारी वेबसाइट किस विषय पर बनी हुई है हम अपनी वेबसाइट में कैसा कंटेंट पब्लिश करते है|

SEO के द्वारा ही हमारी वेबसाइट किसी भी Search Engine के पहले पेज के Top 10 result में rank करती है इस आर्टिकल से आपको SEO के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिलने वाली है

किसी भी वेबसाइट के लिये SEO करने का मुख्य उद्देश्य यही है की उसे सर्च इंजन के पहले पेज पर रैंक करवा के पैसा कमाना एक वेबसाइट पर विजिटर या ट्रैफिक बढ़ाने के लिये अलग-अलग प्रकार से SEO करना पढता है यहाँ कई सारी जगह पर किया जाता है जैसे:- Video, website, लेकिन यहाँ हम सिर्फ वेबसाइट पर SEO करने के बारे में बात कर रहे है|

Types Of SEO – Seo के प्रकार

Search Engine Optimization कई प्रकार से किया जाता है इसको करने की बहुत सारी स्ट्रेटेजी और तरीके है लेकिन उन सभी तरीको को 3 पार्ट में devide किया जाता है|

मतलब की SEO मुख्य रूप से 3 प्रकार का होता है

  • On-Page SEO
  • Off-Page SEO
  • Technical SEO
  • Local SEO

On-Page Seo in Hindi

एक वेबसाइट सर्च इंजन में रैंक करवाने के लिये on-page SEO एक बहुत बढ़ा फैक्टर है अगर आप अपनी वेबसाइट पर ठीक से on-page SEO करते है तो आपको बाकी के SEO पर ज्यादा फोकस करने की जरूरत भी नहीं होती है|

किसी वेबसाइट के सम्पूर्ण SEO में 70% on-page SEO होता है लेकिन यह On-page SEO क्या होता है? इसे समझना बहुत जरुरी है|

जैसा की इसके नाम में ही लिखा है On-page मतलब की पेज के उपर ही SEO तो यह कैसे करते है on-page Optimization में आपको अपनी वेबसाइट के पेज की क्वालिटी को इम्प्रूव करना होता इसमें Page के कंटेंट को ऑप्टिमाइज़ करना होता है और उसकी क्वालिटी पर ध्यान देना होता है|

जितना अच्छा और सटीक आप लिख सकते हो उतना ही ज्यादा आपके पेज का on-page SEO बढेगा इसको करने के लिये निम्नलिखित factors को ठीक से optimize करना होता है|

On-Page SEO क्यों करना चाहिये?

अगर आप अपनी वेबसाइट पर on-page seo नहीं करते हो तो आज से करने लाग जाना क्योंकि यही आपकी वेबसाइट के कंटेंट को सही ढंग से रेप्रेसेंट करता है|

On-Page Seo करने से google को आपकी वेबसाइट के कंटेंट के विषय में Indication मिलता है की आपने अपनी वेबसाइट में क्या-क्या चीजे बता रखी है अगर आपनी प्रॉपर तरीके से on पेज SEO किया है तो Google आपके Content को save करके रखता है|

अभी google का एक New Algorithm Update आया है Passage Indexing का यह ON-PAGE पर ही based है इसमें आपके पुरे कंटेंट की जगह सिर्फ एक या दो पैराग्राफ ही index किया जाता है और जब उस पैराग्राफ से सम्बंधित कुछ भी गूगल में सर्च किया जाता है तो गूगल उस यूजर को आपका वह पैराग्राफ दिखा देता है जिससे उसको पूरा पोस्ट पढने की जरूरत नहीं होती है और यूजर का टाइम भी बच जाता है|

On-page SEO कैसे करें?

Meta Title: यह आपकी वेबसाइट का एक title होता है जो किसी सर्च इंजन के रिजल्ट में सबसे पहले यही दिखाई देता है यह टाइटल यूजर और सर्च इंजन को बताता है की आपकी वेबसाइट किसी बिषय पर है |

अच्छा SEO Optimized Title लिखने के लिये इसमें Keyword का इस्तेमाल करना चाहिये और इसमें ज्यादा से ज्यादा 55-60 characters ही होना चाहिये जिससे यह सर्च रिजल्ट में पूरा दिखाई दे यह जितना अधिक attractive होता है इस पर क्लीक करने के चास बढ़ेंगे|

Meta Description: यह भी एक importent फैक्टर है आपकी साईट को रैंक करवाने के लिये यह टाइटल से जुड़ा होता है यह search result में सबसे से नीचे दिखाई देता है Meta Description में आप अपनी वेबसाइट में दिए गए कंटेंट के बारे में बताते हो इसे 150 से 160 तक Characters में ही लिखना चाहिये|

Image: ये तो आप भी जानते हो की एक इमेज हजारों शब्दों को बयां कर देती है लेकिन सर्च इंजन को कैसे पता चलता है की आपकी इमेज किसी विषय पर बनी हुई है इसलिए Image Alt tag का concept होता है जिसमे हम इमेज के बारे में एक टाइटल लिखते है जिससे सर्च इंजन समझ जाता है की आपकी इमेज कौनसे टॉपिक पर है|

Heading Tags: यह यूजर के लिये सर्च इंजन से भी बहुत ज्यादा importent होते है Heading Tags प्रयोग करने से आपके पेज का कंटेट well – Optimized दीखता है जिससे user को एक्सेस करने में परेशानी नहीं आती है|

Heading tag से search engine पता लगा लेता है की आपने अपने आर्टिकल या वेबसाइट में किन किन Topics को कवर किया है|

Internal Linking OR Inbound links: यह एक बहुत ही अच्छा तरीका है यूजर को अपनी साईट पर ज्यादा देर तक रोकने इसमें एक पेज से अपनी ही वेबसाइट के दुसरे पेज को लिंक दिया जाता है जिससे यूजर एक पेज से दुसरे पेज पर भी जा सके लेकिन यह टॉपिक रिलेटेड ही होना चाहिये|

Anchor Tag: कई लोग URL को anchor tag समझते है लेकिन ये अलग होता है anchor tag में कुछ टेक्स्ट लिखे होते है और वो किसी url से जुड़े होते मतलब ये url नहीं होते है ये url को एक्सेस करने के लिये बनाये जाते है|

URL OR Permalink: यह आपकी webpage का address होता कोई भी यूजर जब आपकी वेबसाइट के किसी पेज पर आता है तो उसका address से ही आता है| वेबसाइट URL का Structure आसान होना चाहिये यही sitemap में भी लिखा होता है

URL भी search engine को बताता है की webpage में किसी विषय पर कंटेंट लिखा गया है यह हमेशा छोटा ही होना चाहिये URL में 70 से अधिक character नहीं होना चाहिये|

Mobile-Friendly Page: पेज हमेशा मोबाइल फ्रेंडली होना चाहिये जिससे इसे मोबाइल में खोलने पर कोई समस्या न आया इमेज और fonts की साइज़ भी मोबाइल के अनुसार ही होना चाहिये जिससे USer Experience बढ़ता है और website रैंक होने में फायदा करता है|

SEO Friendly आर्टिकल कैसे लिखते है ?


Off-page SEO in Hindi

अभी तक हमने On-page seo की बात की अब हम बात करेंगे Off-page SEO क्या होता है इसे कैसे किया जाता है? अब बात करते है ऑफ पेज SEO के बारे में|

जैसे किसी वेबसाइट को रैंक करने के लिये On-Page SEO आवश्यक होता है वैसे ही Off-Page SEO Factor भी उतना ही अधिक आवश्यक है|

Off-Page SEO वेबपेज के ऊपर नही किया जाता है लेकिन यह webpage की रैंकिंग के लिये बैकग्राउंड से बहुत ज्यादा वर्क करता है 

जैसे की इसके नाम से ही पता चलता है Off-Page तो इसका मतलब है इसमें जितना भी वर्क किया जाता है सब webpage के बाहर होता है जिससे webpage में किसी भी प्रकार का परिवर्तन करने की आवश्यकता नहीं की होती है|

इसे हम मार्केटिंग से भी जोड़ सकते है जैसे हम अपने बिज़नस में sales बढाने के लिये मार्केटिंग टेकिनिक का प्रयोग करते है उसी प्रकार हम अपनी वेबसाइट पर Traffic लाने के लिये Off-Page SEO के जरिये इसकी मार्केटिंग करते है ताकि ज्यादा से ज्यादा विजिटर हमारी वेबसाइट पर आयें|

Off-Page के द्वारा हम कम Search Volume वाले Keywords पर भी अच्छा खासा organic ट्रैफिक ला सकते है क्योंकि अगर आप अपनी वेबसाइट को ऐसी जगह प्रोमोट कर रहे हो जहाँ बहुत ज्यादा ट्रैफिक आता है, तो आपकी वेबसाइट पर भी ट्रैफिक आने लगता है|

इसमें हमें Backlink, Social Sharing, Guest Posting, Directory Submission आदि काम करना होता है इसका मतलब यही है की हमें सभी जगह अपने webpage का लिंक बनाना होता है|

Off-Page SEO क्यों करना चाहिये?

देखिये गूगल अधिकतर उस वेबसाइट को अथॉरिटी ज्यादा होता है जिस वेबसाइट को अन्य दूसरी वेबसाइट भी Backlink देती है

यदि अलग -अलग वेबसाइट से आपकी वेबसाइट लिंक होती है तो गूगल का crowler उन सभी लिंक से आपकी वेबसाइट पर पहुचता है

इससे क्या होता है की गूगल के अल्गोरिथम को यह पता चलता है कि यह वेबसाइट अच्छी है इसलिये बहुत सारी वेबसाइट ने इसे लिंक दिये है तो गूगल उस वेबसाइट को अच्छी मानने लग जाता है और उसकी रैंकिंग को बढ़ाना शुरू कर देता है|

आप जिस Keyword से अपनी Website को लिंक करोगे उसी कीवर्ड के लिये Google का Algorithm आपकी वेबसाइट की रैंकिंग को बढाने की कौशिश करता है|

इसका मतलब है की अगर आपको Google की नजर में अपनी वेबसाइट की Value बढ़ानी है तो आपको अपनी वेबसाइट के लिये Off-Page SEO करना चाहिये|

Of-Page SEO कैसे करें?

Off-Page SEO करने के लिये आपको कुछ ज्यादा ही मेहनत करनी पढ़ती है क्योंकि इसमें सबसे बढ़ा फैक्टर एक ही चीज है और वो है अपनी website के लिये दूसरी जगह Backlink बनाना Link Building करना होता है|

अपनी वेबसाइट के लिये Backlink बनाने के लिये ये काम करे-

Blog Commenting: यह एक सबसे आसान तरीका है अपनी वेबसाइट के लिये Of-Page Backlink बनाने का बस आपको क्या करना है अच्छी अच्छी वेबसाइट के आर्टिकल पढना है और वहाँ कमेंट करना है साथ ही अपनी वेबसाइट का लिंक भी कमेंट में शेयर कीजिये ध्यान रहे को spamming ना करें नहीं तो ब्लॉग ओनर आपकी कमेंट को अप्प्रूव ही नहीं करेगा|

Guest Posting: लिंक बिल्डिंग करने का यह सबसे अच्छा तरीका है| इसमें दूसरी वेबसाइट के लिये पोस्ट लिखकर देना होता है और उस पोस्ट में अपनी वेबसाइट का लिंक देना है दूसरी वेबसाइट का ओनर उस आर्टिकल को उसकी वेबसाइट पर पब्लिश कर देता है जिससे हमारी वेबसाइट को उसकी वेबसाइट से लिंक मिल जाता है यह तरीका अच्छा तो है लेकिन थोडा टाइम consuming है यह Free और Paid दोनों तरीको से होता है हमारी वेबसाइट पर हम फ्री में Guest Post लेते है आप चाहो तो हमारे लिये Guest Post कर सकते हो आपको हमारी वेबसाइट से एक Backlink मिल जाएगा|

Social Network Marketing: यह सबसे बढिया तरीका है वेबसाइट के लिये लिंक के द्वारा ट्रैफिक लाने का इसमें सिर्फ अपनी वेबसाइट को सोशल मीडिया साईट पर प्रोमोट करना है अपनी वेबसाइट के नाम से पेज बना कर प्रोमोट करें. ऐसा करने से सोशल मीडिया पर भी लोग आपको फॉलो करेंगे और आपकी वेबसाइट के लिये Valuable Backlink मिलेगा आपको वेबसाइट के लिये इन popular social networking sites पर अकाउंट बनाना चाहिये जैसे:- facebook, instagram, twitter, linkdin आदि और इन्हें अपनी वेबसाइट से लिंक कर दीजिये|

Web 2.0 Account: यह भी एक अच्छा तरीका है Backlink बनाने का आपको जितनी भी web 2.0 वेबसाइट है सभी पर अपना अकाउंट बना लेना है उसके बाद उन पर छोटे-छोटे आर्टिकल बना कर उनको आपकी वेबसाइट से लिंक कर देना है बस इतना करना है आपके Web 2.0 Backlink बन जायेंगे|

Directory Submission: जब भी आप अपनी वेबसाइट पर आर्टिकल पब्लिश करते हो तो इन आर्टिकल को Directories में भी Submit करना है जैसे की; Ezine, Go Articles, Now Public, ये कुछ popular directory submission websites है इसके बारे में अधिक जानकारी के लिये YouTube पर विडियो देख सकते हो|

Forum Website qna: फोरम वेबसाइट पर लोगो के प्रश्नों का उत्तर दीजिये साथ इस और answer में अपनी वेबसाइट का लिंक दीजिये जिससे आपकी वेबसाइट की अथॉरिटी बढ़ती है वहाँ से जब लोग आपकी वेबसाइट पर आते है तो आपकी वेबसाइट पर गूगल का विश्वास बनता है Quora एक बहुत ही अच्छी Forum वेबसाइट है|

Pin Images: इसका मलतब है Pinterest पर अपनी वेबसाइट के Images को Pin करना है Pinterest एक Largest Collection Of Images website है इसमें Millions में ट्रैफिक आता है जिससे अगर आप अपनी वेबसाइट के इमेज को pinterest पर पिन करते हो तो उन्हें डाउनलोड करने के लिये यूजर आपकी वेबसाइट पर आयेंगे|

इसके आलावा भी बहुत सारे तरीके है वेबसाइट के लिये Backlink बनाने के लिये लेकिन तरीका कोई सा भी हो Genuine होना चाहिये जिससे आपकी वेबसाइट का Spam Score ना बढे नहीं तो गलत वेबसाइट से लिंक लेने पर आपकी वेबसाइट कर स्पैम स्कोर बढ़ सकता है जो की SEO की दृष्टि से बिलकुल भी ठीक नहीं है|

Technical SEO क्या है?

Technical SEO में वेबसाइट की टेक्निकल सेटिंग्स की जाती है ज्यादातर लोग ब्लॉग तो बनाने का सोच लेते है लेकिन टेक्निकल SEO करने के टाइम पर fail हो जाते है एक website को प्रॉपर तरीके से चलाने के लिये इसका सही ढंग से Technical Seo करना चाहिये|

इसमें वेबसाइट से सम्बंधित जरुरी सेटिंग्स की जाती है जिससे आपकी वेबसाइट को Search Engine से Connection बनाने में आसानी होती है|

टेक्निकल SEO पर ध्यान देना बहुत जरुरी है नहीं तो वेबसाइट ठीक से Search Engine और crowler की नजर में नहीं आती है जिससे आपकी मेहनत बेकार जा सकती है

“Technical SEO में XML Sitemap, URL Structure, Robot.txt, Domain Name, Navigation, Schema Markup, HTTPS and SSL Certificate, Website Loading Speed, Error Optimization, Redirection, AMP, Mobile Friendly View,”

Technical SEO कैसे करें?

सबसे पहले Website बनाने के लिये Niche Related Domain Name ही ख़रीदे उसके बाद Best Searvice वाली होस्टिंग कंपनी से होस्टिंग लेकर इसे डोमेन से कनेक्ट कीजिये शुरुवात में Hostinger से होस्टिंग ले सकते हो|

इसके बाद सबसे पहला काम वेबसाइट पर SSL certificate एक्टिवेट कीजिये और इसे सिक्योर कीजिये नही तो url में https की जगह http ही दिखेगा|

वेबसाइट के लिये Light Weight Theme लीजिये जो इससे Page Loading Speed बढ़ती है Image को Optimize करके Use करे एक इमेज की साइज़ 20 kb से 40 kb से अधिक ना करें थीम को customize करें Proper नेविगेशन सेट कीजिये और इसे Mobile Friendly बनाइये

Sitemap: वेबसाइट का Sitemap बनाकर इसे Google Search Console में Submit कीजिये जिससे जिससे Google आपकी वेबसाइट के pages को index करता है और फिर सर्च रिजल्ट में दिखाता है

यह एक फाइल होती है जो की बहुत ही जरुरी होती है वेबसाइट को search engine में index करवाने के लिये इस फाइल में आपकी वेबसाइट के वो सभी links मौजूद होते है जिन्हें search इंजन में index करवाना है|

Sitemap सर्च इंजन के लिये एक Map की भांति काम करता है जिससे google के crowler को किसी भी पेज ढूंढने में आसानी हो| बहुत सारे sitemap होते है जैसे: Sitemap.xml, post-sitemap.xml, page-sitemap.xml, sitemap.html, image sitemap, video sitemap Etc.

Robots.txt: यह एक टेक्स्ट फाइल होती है जिसमे Page Indexing से सम्बंधित rules लिखे होते है जैसे वेबसाइट के किस पेज को index करना है किस पेज को index नहीं करना आदि यह फाइल बनाना बहुत जरुरी होता है नहीं तो आपकी साईट सर्च engine में index ठीक से index नहीं होगी|

404 Error :अगर आपकी वेबसाइट का कोई पेज exist नही करता है तो वहाँ 404 error का पेज ओपन होता है जो ठीक नहीं है इसे किसी Particular एक पेज पर redirect कीजिये यह Home Page पर Redirect कीजिये

URL Strucure को एक बार set करने के बाद बार बार change नहीं करना है ब्लॉगर से वर्डप्रेस में आने पर 303 Redirection करके नया url structure बना सकते है|

Local SEO क्या होता है?

Local SEO एक छोटे एरिया या फिर ये कह सकते है की लोकल एरिया के लिये किया जाता यह इसमें हम अपनी वेबसाइट या बिज़नस को लोकल में ऑनलाइन प्रोमोट करते है|

इससे किसी खास एरिया में वेबसाइट को रैंक करवाया जाता है उस एरिया के नाम से जैसे में धार में रहता हूँ और ब्लॉगिंग के बारे जानकारी देता हूँ अब अगर में अपनी वेबसाइट को “Best Blogger in Dhar” के इस Keyword पर रैंक करवाना चाहता हूँ तो मुझे अपनी वेबसाइट के लिये लोकल seo करना पड़ेगा जिससे मेरी वेबसाइट धार के लिये सबसे से पहले number के लिये रैंक हो|

यह तरीका ब्लॉगर नहीं अपनाते यह व्यापारियों और दुकानदारो के लिये किया जाता है ताकि उनका कारोबार बढ़ सके और उन्हें फायदा हो|

Local SEO लोकेशन पर डिपेंड करता है यह लोकेशन के हिसाब से आपके बिज़नस को गूगल में दिखाता है जिससे यूजर को आप तक पहुँचने में आसानी होती है|

जैसे कोई Foreainer (विदेशी) धार में मांडू के लिये Tour पर आता है तो ठहरने के लिये hotel ढूंढेगा अब यदि वह सर्च करता है की “Best Hotel Dhar” अब यदि किस hotel वाले ने Local seo कर रखा है तो उसकी hotel सबसे पहले number की दिखाई देगी .

Local SEO कैसे करें?

इसके लिये Google My Business पर अपनी शॉप की जानकारी अपलोड करना है और local keywords का प्रयोग करना है अब अगर कोई आपकी बिज़नस से रिलेटेड कुछ सर्च करता है तो उसे आपका बिज़नस दिखाई देगा|

इसी प्रकार यदि आप सिर्फ वेबसाइट के द्वारा अपनी वेबसाइट लोकल में रैंक करवाना चाहते हो तो आप इसके लिये on – Page और ऑफ पेज दोनों तरह के SEO का प्रयोग करके लोकल seo कर सकते हो |

Search Engine Optimization के फायदे क्या क्या है?

वैसे तो SEO करने के बहुत सारे फायदे है क्योंकि इससे हमारी वेबसाइट और कंटेंट की रैंकिंग boost होती है इसलिये यह बहुत ही फायदे मंद है बिज़नस के लिये इस प्रकार के फायदे होते है SEO करने से|

  • Website पर Organic Traffic बढ़ता है जिससे इसकी रंकिग भी बढती है
  • High-Quality Refferal Traffic मिलता है
  • Business में Improvement होता है
  • SEO से Google और User दोनों का Trust बनता है
  • व्यापार में अधिक LEAD Generate कर सकते है
  • Paid SEO से जल्दी Result मिलने लग जाते है
  • SEO करने से बाद में कम मेहनत करनी पढ़ती है कंटेंट पर
  • Local Aria में भी Online Business किया जा सकता है
  • लोकल एरिया की शॉप भी गूगल में दिखती है
  • ऑनलाइन बिज़नस कम्पटीशन को जीत सकते है
  • ब्लॉग से ऑनलाइन पैसे कमा सकते है

Conclusion

इस आर्टिकल में आपने जाना की SEO क्या है? What Is SEO in Hindi? यह एक Method है जो Business और Website पर Traffic लाने के लिये किया जाता है SEO करने से बहुत सारे फायदे है इससे पैसे की बचत होती है बिज़नस में और बिज़नस को ऑनलाइन भी Grow किया जा सकता है|

वेबसाइट के लिये SEO की बात करे तो यह On-Page SEO एवं Off-Page SEO और Technical SEO में devide किया गया है एक चौथा SEO लोकल SEO भी होता है लेकिन यह इन्ही तीन SEO के द्वारा किया जाता है

अगर आपका इस SEO से सम्बंधित कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे में इसका रिप्लाई देने की पूरी कौशिश करूँगा…. धन्यवाद्

यह भी पढ़े:

Leave a Comment